राष्ट्रीय कोशिका विज्ञान केंद्र

जैवप्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार की स्वायत्त संस्था

- ज्ञान के लिए कभी समाप्त न होनेवाली खोज


स्वागत है

 

समाचार


करियर / निविदा

अद्यतन दिनांक : January, 1970

निविदा, करियर के लिए यहाँ क्लीक करें ।

कार्यक्रम

अद्यतन दिनांक : January, 1970

 

माइक्रोबायोम अनुसंधान पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी(आइसीएमआर)2018 ....(विस्तृत जानकारी)

कोशिका जीवविज्ञान और आण्विक औषधि के लिए प्रोटिओमिक्स पर अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी.... (विस्तृत जानकारी.....)

 

 

घोषणा

अद्यतन दिनांक : January, 1970

विज्ञान के क्षेत्र में अपने उत्कृष्ट योगदान के लिए डॉ. देबाशिस मित्रा को डीएसटी-एसईआरबी द्वारा प्रतिष्ठित जे. सी. बोस राष्ट्रीय फैलोशिप से सम्मानित किया गया। डॉ. देबाशिस मित्रा आपको हार्दिक बधाई!

एनसीसीएस अब GEM - सरकारी ई-मार्केट में पंजीकृत है और एनसीसीएस ने केवल GEM के माध्यम से खरीद शुरू कर दी है। सभी विक्रेताओं से अनुरोध है कि वे GeM साइट पर पंजीकरण करें।


घोषणा के लिए यहाँ क्लीक करें ।

ब्लॉग्स

अद्यतन दिनांक : January, 1970

Autologous Hematopoietic Stem Cell Transplant: Hope for patients with multiple sclerosis!

Gunter Blobel - Obituary




राकोविकें (एनसीसीएस) के बारे में


भारत सरकार के जैवप्रौद्योगिकी विभागांतर्गत कार्यरत राष्ट्रीय कोशिका विज्ञान केंद्र (एनसीसीएस) नामक स्वायत्त संस्था की स्थापना तीन निर्देशों पर की गई थी-

  • पशु कोशिका संवंर्धनों के राष्ट्रीय भंडार के रूप में सेवारत होना
  • कोशिका जीवविज्ञान अनुसंधान
  • मानव संसाधन विकास

एस. पी. पुणे विश्वविद्यालय के शैक्षणिक दृष्टि से प्रवर्धित परिसर में एनसीसीएस स्थित है। प्रारंभ से ही कोशिका जीवविज्ञान अनुसंधान क्षेत्र में एनसीसीएस अग्रेसर है, तथा पशु कोशिका संवंर्धनों के राष्ट्रीय भंडार के रूप में अमूल्य सेवा प्रदान करते हुए विविध शिक्षा-प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से मानव संसाधन विकास में महत्त्वपूर्ण योगदान देता है। कर्करोग, चयापचय एवं संक्रामक बीमारियाँ तथा पुनरुत्पादक औषधि जैसे मानव स्वास्थ्य संबंधित कोशिका जीवविज्ञान के विविध क्षेत्रों में मूल अनुसंधान के लिए एनसीसीएस अग्रणीय है। कंप्यूटेशनल एवं संरचनातमक जीवविज्ञान, जीनोमिक्स तथा प्रोटिओमिक्स, स्टेम कोशिका जीवविज्ञान, प्रतिरक्षाविज्ञान और सूक्ष्मजीवविज्ञान जैसे आधुनिक एवं परंपरागत पद्धतियों के समन्वयन के माध्यम से एनसीसीएस में चल रहा अनुसंधान महत्त्वपूर्ण विषयों पर प्रकाश डाल रहा है। पद्मश्री और शांतिस्वरूप भटनागर पुरस्कार- जैसे महत्त्वपूर्ण सम्मान एवं प्रसिद्ध वैज्ञानिक पत्रिकाओं में प्रकाशनों के माध्यम से एनसीसीएस के वैज्ञानिकों के योगदान को पूरे विश्व में मान्यता प्राप्त हुई है। 

 





हमारा अनुसंधान


शैक्षिक विशेषताएँ


हमारे नवीनतम अनुसंधान एवं विकास से संबंधित खबरे

व्यावसायिकरण के लिए उपलब्द्ध तकनीकें एवं प्रौद्योगिकियाँ...अधिक जानिए

प्रकाशन

एनसीसीएस बुनियादी जीव विज्ञान के सभी क्षेत्रों में अग्रणी, अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में अपने काम प्रकाशित करती है। अधिक जानकारी के लिए ऊपर आइकन पर क्लिक करें।

प्रौद्योगिकी

एनसीसीएस में विकसित कई प्रौद्योगिकियां, व्यावसायीकरण के लिए उपलब्ध हैं। कृपया उपरोक्त आइकन पर क्लिक करके देखें।

अद्यतन समाचार

अद्यतन दिनांक : January, 1970

समय-समय पर एनसीसीएस का काम राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्रों और अंतरराष्ट्रीय पत्रिकाओं में प्रकट होता है। ताजा खबर के लिए ऊपर क्लिक करें

सुविधाएं

एनसीसीएस में अत्याधुनिक सुविधाएँ - इमेजिंग, मास-स्पेक्ट्रोमिटर और अन्य सेल एनालाइजर है। ऊपर आइकन पर क्लिक करके देखें।

विविध


करियर और अवसर


आधुनिक जीवविज्ञान के सभी क्षेत्रों में अनुसंधान कार्य एवं पीएच.डी करने के अवसर एनसीसीएस में प्राप्त किए जा सकते है। सामान्य सूचना के उद्देश्य से इस कार्यक्रम की छोटी सी रूपरेखा नीचे दी गई है। इस कार्यक्रमांतर्गत आवश्यकतानुसार छात्र यहाँ प्रवेश ले सकते हैं तथा ये प्रवेश केवल विज्ञापनों के जरिए लिए जा सकते है। आवश्यकतानुसार विज्ञापनों का प्रकाशन आवधिक तौर पर किया जाता है। आवश्यक शैक्षिक योग्यता में विज्ञान की किसी भी शाखा में मास्टर की उपाधि तथा सीएसआइआर, युजीसी, डीबीटी, इन्स्पायर आदि की अध्येतावृत्ति होना जरूरी है।

स्टाफ


संपर्क


राष्ट्रीय कोशिका विज्ञान केंद्र
एनसीसीएस कॉम्प्लेक्‍स, सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय परिसर,
पुणे -411 007
महाराष्ट्र राज्य, भारत,
दूरभाष - +91-20-25708000, फॅक्‍स- +91-20-25692259.


एनसीसीएस में आने के लिए नक्शा